आगत शुक्ल

आगत शुक्ल
पिता- माधव शुक्ल मनोज
स्थायी पता-सी@13 सेक्टर 1, अवन्ति विहार,, रायपुर (छ.ग.)
शिक्षा- स्नातकोत्तर वर्ष 1987 डाक्टर सर हरि सिहं गौर विश्वविघालय
जन्म तिथि-13 मई 1965

विशेष...    कला सर्वेक्षण-संकलन, उत्सव आयोजन-डाक्यूमेन्ट्री कार्य, पब्लिकेशन कार्य,
    मंच, प्रर्दशनी आकल्पन-निर्माण, मल्टीमीडिया, ग्राफिक और ध्वनांकन कार्य. भू-दृश्य, प्रोजेक्ट निर्माण

विगत 20 वर्षा से लोक और जनजातीय कला परम्परा के अनुसंधान, दस्तावेजीकरण और कलाओं के उन्नयन के लिए प्रयासरत।
लोक और जनजातीय कलाओं पर केन्द्रित आयोजनों को आयोजित करने का लगभग 15 वर्षो का अनुभव,
200 उत्सव, आयोजनों की व्यवस्था सम्पादित करने का अनुभव।
छत्तीसगढ़ के लगभग एक हजार कलाकारों शिल्पी, और प्रदर्शनकारी कला और कलाकारों से व्यक्तिशः सम्पर्क.
समग्र परिवार संस्कृतिकर्म में सतत् संलग्न।


परिसरों में डिजाईन

उर्जा शिक्षा पार्क,रायपुर में रजवार जाति की कला परम्परा के अंकन, आकल्पन  
कैबिनेट हाल मंत्रालय रायपुर में प्रदेश की प्राचीन अंकन मिटटी शिल्प परम्परा तथा लोक और जनजातीय चित्रों का स्थापन का आकल्पन   महंत घासीदास संग्रहालय की जनजातीय कला दीर्धा के लिए विविध शिल्पों का डिस्प्ले.मडई’ छत्तीसगढ़ी परिवेश का आकल्पन  (शिल्पकारों की राष्ट्रीय कार्यशाला 2002 और 2003) अन्र्तराष्ट्रीय मोटो भोपाल, के लिए लोक-आदिवासी रूपाकार केन्द्रित वृहत परिसर सज्जा, आकल्पन.   जनजातीय-लोक कला दीर्धा,(संग्रहालय) खजुराहो के लिए कार्य.

सिंहस्थ 2004 उज्जैन, छत्तीसगढ़ मंडप का आकल्पन और इरेक्शन कार्य।
संत समागम 2005 से 2009 तक राजीवलोचन महोत्सव, राजिम कुंभ की संत समागम परिसर डिजाईन, व्यवस्था तथा 

2007 में खबर गुढ़ी’ मीडिया सेंटर का आकल्पन और निर्माण

स्टेज आकल्पन-निर्माण

नये राज्य निर्माण के बाद छत्तीसगढ़ शासन, संस्कृति विभाग के लगभग 40 आयोजनों के स्टेज, प्रदर्शनी,, परिसर तथा अलंकृत प्रवेश द्वारों का छत्तीसगढ़ी कला परम्परा और अस्मिता पर केन्द्रित साज-सज्जा का आकल्पन पर्यवेक्षण.
 

राज्योत्सव 2003,2004.2005,2006,2007 में सात दिवस में सात प्रकार के विविध परम्परागत कला मंचों का आकल्पन-इरेक्शन.
सांस्कृतिक संध्या-स्वतंत्रता के जनजातीय स्वर प्रदर्शनी 2002.2003
मुक्ताकाश संग्रहालय (शुभारंभ) शिलान्यास 2002 आकल्पन.
सांस्कृतिक संध्या( संग्रहालय परिसर 2002 ( स्टेज आकल्पन)
छत्तीसगढ़ राज्योत्सव में संस्कृति विभाग की उत्कृष्ट प्रदर्शनी 2002 ( आकल्पन-निर्माण )
दिल्ली में छत्तीसगढ़ राज्य दिवस 2002,2003,2004 (स्टेज आकल्पन)
शास्त्रीय संगीत समारोह-रायपुर संगीतकारों पर केन्द्रित प्रदर्शनी 2003,2004
पं. लोचनप्रसाद स्मृति समारोह-प्रदर्शनी स्टेज आकल्पन साज-सज्जा.
स्वामी विवेकानंद के आगमन की125 वीं सालगिरह -प्रदर्शनी स्टेज आकल्पन-साज-सज्जा.
शैलचित्रों पर राष्ट्रीय संगोष्ठी, प्रदर्शनी-आकल्पन निर्माण.
राजिम के पुरातत्व पर केन्द्रित प्रदर्शनी-आकल्पन निर्माण.2002
शिल्पकारों की राष्ट्रीय कार्यशाला, कार्यशाला परिसर का आकल्पन, निर्माण.
जैन कला और पुरातत्व पर केन्द्रित प्रदर्शनी ( आकल्पन ), डिस्प्ले.
छत्तीसगढ़ राज्योत्सव 2014 का मोनो डिजाईन
राजिम में राजिम के मंदिरों पर एकाग्र प्रदर्शनी का आकल्पन-इरेक्शन.2003
शिल्पकारों की राष्ट्रीय कार्यशाला के लिए शिल्प मड़ई का निर्माण आकल्पन कार्य.2004

कवि सम्मेलन मंत्रालय के कवियों द्वारा आयोजित मंच की सज्जा.
छत्तीसगढ़ के लोक और जनजातीय अलंकरणों पर केन्द्रित प्रदर्शन का आकल्पन कार्य


छायांकन-फिल्म-डाक्यूमेन्ट्री
भादों जात्रा केशकाल,भंगाराम पर विस्तृत डाक्यूमेन्ट्री का निदेशन, दस्तावेजीकरण 
संस्कृति विभाग के लिए रामकथा   (मप्र)
भारत के लोक चित्रांकन शैलियों पर केन्द्रित डाक्यूमेन्ट्री में ध्वनि संयोजन कार्य. (मप्र)
साधन फिल्म की मध्यप्रदेश की लोक संस्कृति का म्यूजिक डायरेक्शन और सहयोग. (मप्र)
 

लोक और आदिवासी कला रूपों का सर्वेक्षण-दस्तावेजीकरण
 बस्तर के धनकुल गाथा गायक कलाकारों की खोज, धनकुल गाथा का संकलन.दस्तावेजीकरण
गौंड जनजाति की मुरिया और बैतूल की गोंड जनजाति की गाथा लिंगोपेन गाथा सर्वेक्षण, ध्वन्याकन, 


दस्तावेजीकरण
बस्तर की भतरा जनजाति के जीवन वृत्त का छायांकन कार्य   (मप्र) 
रायगढ़ के कोसा शिल्पियों से संपर्क। सर्वेक्षण तथा संकलन कार्य. (मप्र)
रायगढ़ जिले के मिट्टी शिल्पों का संकलन. (मप्र)
छत्तीसगढ़ के लोक नाट्य नाचा पर सर्वेक्षण कार्य. (मप्र)
बुन्देली लोक कला रूपों का सर्वेक्षण दुर्लभ लोक गाथा ‘धर्मासाँवरी’ का संकलन एवं प्रकाशन. (मप्र)
बघेली लोक गाथाओं-कथाओं का सर्वेक्षण-संकलन, ध्वन्यांकन, प्रतिलेखन, (मप्र)
शहडोल,मंडला जिले के कबीर पंथी समुदाय और कबीर के लोक निरगुनिया पदों का संकलन. (मप्र)
लौह, घडवा, मलार शिल्प, काष्ठ शिल्प तथा शिल्पकारों की कला परम्परा, जीवन शैली का अघ्ययन.
इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय भोपाल के लिए भीली क्षेत्रों में नर्मदा घाटी की भौतिक वस्तुओं का संकलन तथा सर्वेक्षण.
(मप्र)
रजवार के कला कर्म पर केन्द्रित सर्वेक्षण कार्य

कला कार्यशाला-शिवि
लोक और जनजातीय चित्रकारों की कार्यशाला का सम्पादन।(जनजातीय कला दीर्धा खजुराहो के लिए) (मप्र) 
आल्हा गायक चयन शिविर का आयोजन, ध्वन्यांकन, संकलन और शिविर का आयोजन कार्य. (मप्र)

लोक कला चयन शिविर के लिए बघेली लोक कलाओं का सर्वेक्षण, कलाकारों की खोज, चयन शिविर का आयोजन कार्य (मप्र)
   
निर्माण-कला
 छत्तीसगढ़ के लोकचित्रों का केनवास पर चित्रांकन.
 रजवार हट ‘सुरतावा‘ का रिनोवेशन (महंत घासीदास परिसर में स्थित)
 रजवार भित्ति चित्रों तथा शिल्पों का निर्माण
का आयोजन कार्य.

पब्लिकेशन डिजाईन
बुन्देली का फाग साहित्य-का आकल्पन (मप्र)
टंटया मामा, पर पुस्तिका का आकल्पन (मप्र)

बहनियां पत्रिका संस्कृति विभाग. छग
छत्तीसगढ़ राज्य दिवस-2003 दिल्ली पर केन्द्रित ब्रोशर.
छत्तीसगढ़ राज्योत्सव 2003, रायपुर पर केन्द्रित ब्रोशर.
रायपुर में शिल्पकारों की राष्ट्रीय कार्यशाला 2003 और 2003 पर केन्द्रित ब्रोशर.
छत्तीसगढ़ राज्य दिवस 2003 दिल्ली,
राजिम महोत्सव 2004, लोक और जनजातीय अलंकरण ब्रोशर का आकल्पन
एक लालटेन के सहारे पुस्तिका का डिजाईन तथा अलंकरण( संस्कृति विभाग के लिए)
सांस्कृतिक पंचाग 2010 तथा 2012 का आकल्पन-डिजाईन तथा ग्राफिक कार्य
गणतंत्र दिवस 2013 की समारोह पत्रिका का आकल्पन


कलाकार संपर्क
मध्यप्रदेश के विभिन्न विधाओं के लोक और आदिवासी कलाकारों के नाम और पते का संकलन कार्य.
प्रदेश के लोक और जनजातीय शिल्पकारों और प्रदर्शनकारी कलाकारों से संपर्क.


अन्य
मल्टीट्रेक साउण्ड रिकार्डिग और एडींटंग का कार्यानुभव ‘चुन-चुन चू सीरियल के साउण्ड का निर्माण’ (मप्र)
विभिन्न माध्यमों में किए गये संकलन, ध्वनांकन, विडियो संकलन आदि के डिजिटल कन्वर्शन कार्य
कम्प्यूटर कार्य के विविध पक्ष यथा लेखन तथा 3 डी ग्राफिक कार्य में दक्षता

पर्यटन
यूएनडीपी के प्रोजेक्ट ग्रामीण पर्यटन योजना नगरनार और चित्रकोट पर कार्य
छत्तीसगढ़ के कला रूपों और आंचलिक परिवेश पर केन्द्रित परिचय पुस्तिका का संकलन लेखन और सम्पादन कार्य सतत्
पर्यटन मण्डल के विविध गार्डन लेण्डस्केप का आकल्पन और ग्राफिक 3 डी निर्माण


वन
मोहदा रिसोर्ट बारनवापारा के शुभारंभ स्थल का आकल्पन कार्य
‘इको इथेनिक टूरिज्म’ प्रोजेक्ट देवपुर का प्रोजेक्ट डिजाईन तथा डाईग डिजाईनिंग
यूएनडीपी के प्रोजेक्ट ग्रामीण पर्यटन योजना ओढ़ का प्लान, डाईंग, डिजाईन, एस्टीमेटिंग,
मुक्तांगन संग्रहालय में वन विभाग के प्रोजेक्ट के भवन की डिजाईन


मुक्तांगन
छत्तीसगढ़ के जनजातीय मुखौटों को वृहद रूप में निर्मित कर दीर्धा का आकल्पन, निर्माण
सरगुजा की रजवार जाति की कला और रजवार घर
छत्तीसगढ़ का लोक और जनजातीय देवलोक पर सतत् कार्य


आगत शुक्ल
सी@13 सेक्टर 1 अवन्ति विहार, रायपुर
ई-मेल agatshukla@rediffmail.com
ब्‍लॉग – http://aaklpagat.blogspot.com
            http://aaklpagat1.blogspot.com
            face book Agat shukla

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें